BEd vs BTC Update: बीएड बनाम बीटीसी मामले में सुप्रीम कोर्ट का नया आदेश, सरकार द्वारा होगा निर्णय लिया जायेगा बड़ा फैसला

BEd vs BTC Update: बीएड बनाम बीटीसी मामले में सुप्रीम कोर्ट का नया आदेश, सरकार द्वारा होगा निर्णय लिया जायेगा बड़ा फैसला। उत्तर प्रदेश में पिछले करीब 5 सालों से कोई भी प्राथमिक शिक्षक भर्ती नयी आयी है। इस भर्ती के इंतजार में लाखों युवा अपनी तैयारी में जुटे हैं लेकिन उन्हें कोई भी भर्ती आने की उम्मीद नज़र नहीं आ रही है। ऐसे में एक बड़ी खबर सुनने को मिल रही है जोकि सुपर टेट में बीएड की योग्यता को लेकर है। आपको बता दें कि बीएड को सुप्रीम कोर्ट ने प्राथमिक शिक्षक भर्ती से बाहर कर दिया था जिसके बाद से अभ्यर्थियों तथा सरकार द्वारा कुछ कदम उठाये गए थे जिसके बारे में आगे पूरी जानकारी प्रदान की गयी है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से परेशान बीएड अभ्यर्थी

आपको पता होगा कि 11 अगस्त 2023 को सुप्रीम कोर्ट ने काफी लम्बे समय से पेंडिंग चल रहे बीएड बनाम बीटीसी मामले पर सुनवाई करते हुए अहम् फैसला सुनाया। यह फैसला बीटीसी अभ्यर्थियों के पक्ष में गया। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार अब कोई भी बीएड अभ्यर्थी देश की किसी भी प्राथमिक शिक्षक भर्ती परीक्षा में शामिल होने के योग्य नहीं होंगे।

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद लाखो अभ्यर्थियों ने विरोध करते हुए पुनः विचार करने की याचिका सुप्रीम कोर्ट में डाल दी थी। किन्तु सुप्रीम कोर्ट ने सभी याचिका को ख़ारिज करते हुए अपने फैसले पर अडिग रहते हुए कहा कि प्राथमिक शिक्षक भर्ती में सिर्फ बीटीसी योग्यताधारी ही शामिल होंगे। बीएड उम्मीदवारों को तभी शामिल किया जायेगा जब उन्होंने Deled किया होगा।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से आन्दोलन करने को मजबूर बीएड डिग्रीधारी

जब से यह फैसला आया है तभी हर जगह प्रतिदिन बीएड अभ्यर्थियों द्वारा आन्दोलन किया जा रहा है तथा सरकार से गुहार लगायी जा रही है ताकि सुप्रीम कोर्ट अपने फैसले को बदलकर बीएड को भर्ती में शामिल करे। बीएड अभ्यर्थियों का कहना है कि उन्होंने अपना 2 साल बीएड करने में बर्बाद कर दिया जिसका कोई भी फायदा नहीं हो रहा है।

राजस्थान हाई कोर्ट के फैसले को आधार मानते हुए 11 अगस्त को फैसला सुनाया गया था। जिसके पुनः विचार याचिका को सिरे से ख़ारिज करते हुए पुराने फैसले को ही लागू करते हुए बीएड को प्राथमिक से बाहर रखा जायेगा इस फैसले के बाद समस्त बीएड डिग्री धारी बहुत परेशान हैं और कहना है कि यदि सुप्रीम कोर्ट अपने फैसले को वापस नहीं लेता है तो सभी लोग धरना प्रदर्शन करते रहेंगे।

सीटेट दिसंबर आवेदन प्रक्रिया को लेकर बोर्ड ने सुनाया फैसला, तकनीकी खराबी के चलते लिया फैसला।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले में होगा बदलाव

आपको बताते चलें बहुत जगह पर यह खबर देखने को मिली कि सुप्रीम कोर्ट अपने फैसले को बदलने जा रहा है। तो आपको बता दें कि ऐसा कुछ नहीं  सुप्रीम कोर्ट ने बता दिया है कि उसका फैसला अडिग है कोई बदलाव नहीं किया जायेगा। किन्तु अभ्यर्थियों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट को अपना फैसला बदलना ही पड़ेगा। इसके लिए अपील की जा चुकी है। अब देखना होगा इसपर कोर्ट का क्या स्पष्टीकरण देखने को मिलता है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

x