PM Modi Speech in ISRO

PM Modi Speech in ISRO: पीएम मोदी ने इसरो सेन्टर में दिया सम्बोधन, चन्द्रमा की सतह का किया नामकरण

PM Modi Speech in ISRO: भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने साउथ अफ्रीका दौरे से लौटकर इसरो सेन्टर का दौरा किया और इसरो तथा भारतवासियों को सम्बोधित करते हुए कई मुख्य बातों पर बल दिया और भारत की युवा पीढ़ी को उज्जवल भविष्य के लिए बहुत सी बातें कहीं जोकि हम आगे आपको बताने वाले हैं। आपको बता दें कि पीएम का साउथ अफ्रीका दौरा ब्रिक्स की मीटिंग के लिए हुआ था। इस वजह से वे चन्द्रयान 3 की लैंडिंग के समय साउथ अफ्रीका में थे।

इसरो में सम्बोधन के वक्त पीएम मोदी हुए भावुक (PM Modi Speech in ISRO)

देश को सम्बोधित करते हुए पीएम ने कहा कि भारत अब चन्द्रमा पर पहुँच चुका है। चन्द्रमा पर पहुँचने वाला भारत चौथा देश बन गया है। लेकिन चंद्र के साउथ पोल पर आज तक कोई नहीं जा पाया और भारत ने यह कारनामा कर दिखाया। इसलिए साउथ पोल पर पहुँचने वाला भारत पहला देश बन गया है। इसरो ऑफिस में अपने सम्बोधन के समय पीएम मोदी काफी भावुक दिखे।

उन्होंने हाथ जोड़कर इसरो के सभी कर्मचारियों का अभिवादन किया और कहा कि भारत की युवा पीढ़ी के लिए आप लोग एक मिसाल बन चुके हैं। युवाओं को आपसे बहुत कुछ सीखने को मिल रहा है जैसे कि यदि कभी आप असफल होते हैं तो इसका मतलब यह नहीं कि वह अन्तिम प्रयास है। आपका अगला प्रयास आपको चन्द्रमा तक पहुँचा सकता है।

चन्द्रयान 2 के पद चिन्हों का नामकरण

प्रधानमंत्री ने चन्द्रयान 2 को लेकर एक बहुत बड़ी घोषणा की। उन्होंने कहा की चन्द्रयान 2 चन्द्रमा की सतह पर उतरने से मात्र कुछ कदम दूर रह गया था। किन्तु चन्द्रमा पर चन्द्रयान 2 ने जो अपने पद चिन्ह छोड़े थे उसका नामकरण करना जरूरी है। अतः मोदी ने चन्द्रयान 2 द्वारा छोड़े गए पद चिन्हों को “तिरंगा” नाम से अलंकृत किया।

चन्द्रयान 3 के लैंडिंग सरफेस का नामकरण

चंद्रयान 3 जोकि 23 अगस्त को शाम 6 बजकर 4 मिनट पर चन्द्रमा की दक्षिणी सतह पर उतारा गया। जिसके बाद ही भारत ऐसा करने वाला दुनिया का पहला देश बन गया। आज 26 अगस्त को सुबह पीएम ने इसरो ऑफिस में सम्बोधन देते समय चंद्रयान 3 चन्द्रमा की जिस सतह पर उतरा है उस सतह का भी नामकरण किया। मोदी ने इस सतह का नाम “शिवशक्ति” रखा।

23 अगस्त को नेशनल स्पेस डे के रूप में मनाया जायेगा

23 अगस्त 2023 भारत की वह स्वर्णिम तारीख के रूप में अंकित हो चुकी है जो कि पुरे विश्व पटल पर भारत को गौरवान्वित कराने में भूमिका निभाएगी। इसलिए पप्रधानमंत्री ने 23 अगस्त जब चन्द्रयान 3 ने भारत का तिरंगा चन्द्रमा पर लहराया है इसलिए 23 अगस्त को नेशनल स्पेस डे के रूप में मनाया जायेगा यह घोषणा की। भारत में अब से 23 अगस्त को राष्ट्रीय स्पेस दिवस मनाया जायेगा।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.