UP Police Re Exam Date

UP Police Re Exam Date: यूपी पुलिस परीक्षा की नयी तिथि घोषित, 6 महीने बाद इस तारीख़ को होगी यूपीपी की परीक्षा

UP Police Re Exam Date: यूपी पुलिस परीक्षा की नयी तिथि घोषित, 6 महीने बाद इस तारीख़ को होगी यूपीपी की परीक्षा। उत्तर प्रदेश में हाल ही में हुई क़रीब 60 हज़ार से अधिक पदों पर पुलिस भर्ती परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है। आपको बताते चलें बीते शनिवार को शासन स्तर द्वारा यह फ़ैसला लिया गया। क्योंकि इस परीक्षा के लीक होने से सभी उम्मीदवारों द्वारा री एग्जाम की माँग की जा रही थी।

जिसके बाद सरकार द्वारा भी यही फ़ैसला लिया गया।और अगले 6 माह में परीक्षा को पुनः आयोजित करने का आदेश दिया गया। उत्तर प्रदेश में यह पुलिस की भर्ती काफ़ी लंबे समय अंतराल के पश्चात आयी है। जिसके लिये सभी अभ्यर्थियों ने अपनी कमर कसी हुई थी। किंतु जैसे ही पेपर लीक होने की खबर सामने आयी इसके बाद पेपर देकर लौटे उम्मीदवारों के कष्ट का ठिकाना नहीं था। आदेशानुसार यह परीक्षा अगस्त माह के पहले ही संपन्न करवा ली जाएगी।

यूपी पुलिस परीक्षा पुनः आयोजित करने के आदेश

आपको बता दें परीक्षा निरस्त होने की खबर सुनकर काफ़ी उम्मीदवार जिनका एग्जाम ख़राब हो गया था वे प्रसन्न नज़र आये जबकि बढ़िया से पेपर देने वालों में वह ख़ुशी देखने को नहीं मिली। इससे पहले आरओ तथा एआरओ का भी पेपर लीक हुआ था जिसके बाद वे अभ्यर्थी भी धरना प्रदर्शन में जुटे हैं और री एग्जाम की माँग कर रहे हैं। हालाँकि उसपर फ़िलहाल कोई भी सूचना नहीं मिली है।

पेपर लीक होने के बाद से सबसे बड़ी चिंता अभ्यर्थियों में इस बात को लेकर थी कि जिन अभ्यर्थियों की उम्र सीमा अयोग्य हो चुकी है के वे री एग्जाम दे पायेंगे। तो उनके लिए भी अब चिंता की कोई बात नहीं है। क्योंकि अब पुनः होने वाली परीक्षा में भी सभी अभ्यर्थी शामिल होंगे। आपको बता दें इस भर्ती के लिए लगभग 50 लाख लोगों ने आवेदन किया था।किंतु परीक्षा में मात्र 43 लाख के आस पास परीक्षार्थी ही शामिल हुए थे।

ऐसे में उनके लिए भी एक मौक़ा फिर होगा यूपी पुलिस में शामिल होने का। शासन द्वारा पुनः परीक्षा कराने के साथ साथ यह भी आदेश दिया है कि परीक्षा में हुई धांधली की जाँच निष्पक्ष तरीक़े से कराने के बाद दोषी को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी। जिसके बाद से STF छान बीन में जुट गई है। इसका एक दोषी बलिया से पाया गया है। जिसका नाम नीरज है और यह व्हाट्सएप पर पेपर भेजने का कार्य करता पाया गया। STF ने इसे गिरफ़्तार कर लिया है।

Similar Posts